Vigyan Vardan Ya Abhishaap Hindi Essay On Mother

On By In 1

कृषि क्षेत्र में- अब ऐसी मशीनें बन गई हैं जो जोतने, बोने, फसल काटने, अनाज तैयार करने आदि का काम भी करती . हैं । कीटाणुनाशक दवाइयां छिड़क कर फसलों को रोगों से बचाया जाता है । रासायनिक खाद से फसल दुगुनी-चौगुनी पैदा की जा सकती है ।

विज्ञान की अद्‌भुत देन बिजली- आज बिजली ने मनुष्य का बड़ा कल्याण किया है । बटन दबाते ही घर में प्रकाश हो जाता है । पंखे और वातानुकूलित कमरे इसकी ही देन हैं । हीटर से कमरे गर्म किए जाते हैं । भोजन, चाय, वस्त्र, प्रक्षालन, भवन की सफाई आदि सब कार्य बिजली की सहायता से होते हैं । रेलगाड़ियाँ मैर्टो, बसें, ट्रामें भी बिजली की सहायता से चलती हैं । लिफ्ट नीचे से ऊपर और ऊपर से नीचे ले जाती है । प्रेस के आविष्कार ने ज्ञान-विज्ञान की पुस्तकों को सुलभ बना दिया है ।

दोष- विज्ञान ने मनुष्य के जीवन को जहां स्वर्गमय -बना दिया है वहां अपने भयंकर रूप से उसके जीवन को नरकमय भी बना सकता है । विज्ञान के बल पर मनुष्य ने नेपाम बम, एटम बम तथा हाइड्रोजन बम आदि ऐसे विनाशकारी अस्त्र-शस्त्र बनाए है जो पल भर में मनुष्य के जीवन को नष्ट कर सकते हैं । दूसरे महायुद्ध में अमेरिका ने एटम बम गिराकर जापान के हिरोशिमा और नागासाकी नगरों को ध्वस्त कर दिया था । विज्ञान द्वारा जहरीली गैसें छोड़ी जा सकती हैं । विज्ञान ने मनुष्य को आलसी बना दिया है । विज्ञान के युग में पला मनुष्य नास्तिक बनता जा रहा है । अत: कहा जा सकता है कि विज्ञान अभिशाप भीहै ।

उपसंहार- स्पष्ट हो जाता है कि विज्ञान ने मनुष्य को अनेक प्रकार से सुखी बना दिया है । यदि वह इसका ठीक उपयोग करे तो वह इस पृथ्वी पर ही स्वर्ग ला सकता है । आवश्यकता है परमाणु अस्त्रों -शस्त्रों की होड़ से बचने की ।

नीचे विज्ञान के चमत्कार (Vigyaan Ke Chamatkar) के विषय पर ही एक और निबंध भी दिया गया है.

विज्ञान के चमत्कार

आज विज्ञान और तकनीक ने इतनी उन्नति कर ली है कि उसके अन्वेषणों और आविष्कारों को निहार कर आदमी चमत्कृत हुए बिना नहीं रह पाता । उन अनेक प्रकार के चमत्कारों, अन्य चमत्कारों की ओर बढ़ते नित्य कदमों के कारण ही आज के युग को विज्ञान का, उसके चमत्कारों का युग कहा जाने लगा है । सुबह उठने से लेकर रात को सोने तक आज का मनुष्य जिस तरह के भी उपकरणों-साधनों का उपयोग करता है, वे सभी आधुनिक विज्ञान एवं तकनीक की ही देन हैं ।

यहाँ तक कि जो अनाज-पानी खाते-पीते है, उनके नाम-काम तो निश्चय ही पुराने हैं, स्वरूप में भी कोई विशेष नयापन नहीं; पर उन्हें पाने के सभी उपकरण एवं उपाय निश्चय ही आधुनिक विज्ञान की ही देन हैं । आज बिजली, रेडियो, सिनेमा, टेलिविजन, टेलिफोन, जलयान, वायुयान, पंखे, बल, रसोई और बैठक खाने के उपकरण आदि सभी क्रुछ आधुनिक विज्ञान की देन है, यह कहने-बताने की आवश्यकता नहीं रह गई ।

जिस कपड़े से हम अपना तन ढकते हैं, जिस तरह के घरों में रहते हैं और जिस प्रकार के सामान प्रयोग में लाते हैं उन सभी कुछ को भी आधुनिक विज्ञान का चमत्कार मानने की बात पुरानी हो चुकी है । मुख्य बात तो यह है कि विज्ञान के चमत्कारों ने आज हमारी आस्थाओं और विश्वासों तक को बदल कर रख दिया है । कल तक हम जो माना-कहा करते थे, आज वैसा मानना-कहना एक अजूबा-सा लगता है ।

सच तो यह है कि आज वैसा मानने-कहने से ही नहीं सोचने में भी हम एक तरह की मज्जागत लज्जा महसूस करने लगे हैं । कभी जिन रोगों के इलाज की कल्पना तक कर पाना संभव नहीं था और जिन्हें मौत का सीधा परवाना माना जाता था, आज के विज्ञान ने उनका नाम तक मिटा दिया है-यद्यपि कई नए रोग भी जीवन को अवश्य लगा दिये हैं । वैज्ञानिक उपकरणों की सहायता से मानव हिमालय के उच्च शिखरों पर विजय ध्वज फहरा आया है और चन्द्रलोक तक की ऊबड-खाबड भूमि पर अपने चरण-चिन्ह अंकित कर आया है ।

अन्य ग्रहों पर भी जाने की तैयारी कर रहा है । विज्ञान की सहायता से आज का मानव सागर का अन्तराल चीर कर उसके अन्तरतल की खोज करने लगा है । यहाँ तक कि उसके पानी की भीतरी सतह पर अपने यान पनदुब्बी) तक निर्भीक होकर दौड़ाने लगा है । विज्ञान की सहायता से ही आज का उन्नत तकनीकी मानव रेगिस्तानों में फूल तो खिलाने ही लगा है, वहाँ की रेत को निचोड कर उससे तेल भी निकालने लगा है ।

लहराते सागर का अन्तर मन्द कर तेल प्राप्त करना भी आधुनिक विज्ञान का ही चमत्कार आधुनिक विज्ञान ने सोचने-विचारने, कड़े इकट्ठे करने, बड़े-से -बडा हिसाब-किताब पलों में कर देने का काम भी सम्हाल लिया है । कम्प्यूटर से सारे कार्य तो कर ही रहा है, मानव को भूत-भविष्य का हाल भी बताने लगा है । इतना ही नहीं भविष्य में संघातक युद्धों की व्यूह-रचना और आक्रमण-प्रत्याक्रमण का कार्य भी यह कम्प्यूटर या कम्प्यूटरीकृत मानव करने लगेगा ।

वायुयान तक यही उड़ाया करेगा । दूर संचार विज्ञान ने इस सीमा तक तरक्की कर ली है कि आज अपनी कार में बैठ कर चलते हुए घर या राष्ट्रीय अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर कहीं भी बातचीत कर सकते हैं । आज तो मात्र बातचीत ही कर सकते हैं, सम्भावना है कि जल्दी ही बातचीत करने के साथ-साथ दोनों पक्ष एक-दूसरे का साक्षात् दर्शन भी कर सका करेंगे ।

इस प्रकार विज्ञान के बढ़ते हुए कदमों और चमत्कारों के कारण आज निकट-दूर कुछ भी नहीं रह गया । सभी कुछ एक-सा ही हो गया है । आधुनिक विज्ञान ने युद्धक तकनीक में भी विशेष चमत्कार कर दिखाया है । परमाणु बम की कहानी उस समय पुरानी लगने लगती है कि जब हाइड्रोजन बम, कोबॉल्ट बम, जैविक या रासायनिक बमों एवं शस्त्रास्त्रों के निर्माण की लोमहर्षक चर्चा सुन पड़ती है । ऐसी गैसों की चर्चा कि हवा में मिल जाने पर, उस हवा का नन्हा-सा झोंका जहाँ-कहीं भी पहुँचेगा, वहीं मृत्यु का ताण्डव होने लगेगा ।

फिर भविष्य में यदि युद्ध होंगे, तो उनका संचालन कोई भूमिगत और चमत्कृत कर देने वाला वैज्ञानिक यंत्र कर रहा होगा । इस प्रकार आज विज्ञान ने युद्ध-कला को विनाश और सर्वनाश की कला बना दिया है ।

मानव उसके सामने मात्र एक मिट्टी का लौदा बनकर रह गया है । इस सारे वर्णन-विवेचन से सामान्य तथा आधुनिक विज्ञान और तकनीक की प्रगति और विकास, उसमें अदभुत-अविश्वसनीय से लगने वाले चमत्कारों का चित्र तो उभर कर सामने आ ही जाता है; मानवता पर विश्वास रखने वाले व्यक्ति के मस्तक पर चिन्ता की रेखाएँ भी उभर आती हैं । वह यह सोचकर कि अपने इन चमत्कारों के कारण विज्ञान या तो मानव को एकदम निक-मना बना कर रख देगा, या फिर नष्ट कर के । भगवान् करे, दोनों में से कुछ न हो और जीवन इसी प्रकार आगे चलता-बढ़ता रहे ।


ज़रूर पढ़िए:


हमारे इस blog पर आपको अलग-अलग विषयों पर बहुत सारे निबंध मिल जायेंगे, आप उन्हें भी नीचे दिए गए link को browse करके ज़रूर पढ़ें.


हमें पूरी आशा है कि आपको हमारा यह article बहुत ही अच्छा लगा होगा. यदि आपको इसमें कोई भी खामी लगे या आप अपना कोई सुझाव देना चाहें तो आप नीचे comment ज़रूर कीजिये. इसके इलावा आप अपना कोई भी विचार हमसे comment के ज़रिये साँझा करना मत भूलिए. इस blog post को अधिक से अधिक share कीजिये और यदि आप ऐसे ही और रोमांचिक articles, tutorials, guides, quotes, thoughts, slogans, stories इत्यादि कुछ भी हिन्दी में पढना चाहते हैं तो हमें subscribe ज़रूर कीजिये.



Filed Under: Essay | निबंधTagged With: advantages and disadvantages of science essay in hindi, debate on science in hindi, essay in hindi on science, essay of science in hindi, essay of wonder of science in hindi, essay on advantages and disadvantages of science in hindi, essay on importance of science in hindi, essay on importance of science in our life in hindi, essay on science advantages and disadvantages in hindi, essay on science and technology in hindi, essay on science and technology in hindi language, essay on science in hindi, essay on science in hindi language, essay on wonder of science in hindi, essay science in hindi language, hindi essay on science, hindi essay on science and technology, history of science in hindi, importance of science essay in hindi, importance of science in hindi, Keywords, paragraph on science in hindi, science and technology essay in hindi, science article in hindi, science essay in hindi, science essay in hindi language, science history in hindi, science in hindi language, speech on science in hindi, wonder of science essay in english, wonder of science essay in hindi, wonder of science essay in hindi language, wonder of science in hindi

Science quotes

आज हमारा जीवन पूरा विज्ञान के भरोसे पर चल रहा हैं। आज हम विज्ञान में नयी नयी खोज करके अपने जीवन को और भी आसान बना रहे है। आज हम आपके लिए विज्ञान पर अनमोल विचार लाये हैं आपकों जरुर पसंद आयेंगे –

विज्ञान पर विचार | Science quotes in Hindi

“विज्ञान इन्सान को गरीबी और बीमारी से निकाल सकता है। और वो बदले में इन्सान सामाजिक अशांति ख़त्म कर सकता है।”

“धर्म, विज्ञान और कला वास्तव में एक ही पेड़ की शाखा – प्रशाखाएं हैं।”

“सफलता एक विज्ञान है यदि परिस्थितियां है तो परिणाम भी मिलेंगा।”

“धर्म के बिना विज्ञान लंगड़ा है, वैसेही विज्ञान के बिना धर्म अंधा है।”

“यह विज्ञान के धर्म की खास बात है कि ये काम करता है।”

“इस दुनिया में, स्वर्ग में, और धरती पे सबसे बड़ा विज्ञान प्यार है।”

“विज्ञान के चमत्कार हमारा जीवन सहज बनाते हैं पर प्रकृति के चमत्कार धूप, पानी और वनस्पति के बिना तो जीवन का अस्तित्व ही संभव नहीं।”

“आज़ादी विज्ञान की पहली उत्पादक है। विज्ञान मानवता के लिए एक खूबसूरत तौफ़ा है, इसका हमें सदुपयोग करना चाहिए।”

“विज्ञान केवल तर्क का अनुयायी नहीं है, बल्कि रोमांस और जूनून का भी।”

“विज्ञान की तीन विधियाँ हैं – सिद्धान्त, प्रयोग और सिमुलेशन।”

“धर्मशास्त्र मन का विज्ञान है जो भगवान् पर लागू होता है।”

“आज तक की सबसे बड़ी वैज्ञानिक खोज ख़ुद विज्ञान ही हैं।”

“राजनीती और धर्म का वक्त गुजार गया है। विज्ञान और आध्यत्मिकता का वक्त आ गया है।”

“जीवन विज्ञान के प्रयोग जैसा है, जीतनी बार प्रयोग करेंगे पहले से बेहतर सफ़लता पाओंगे।”

“विज्ञान कहता है की जीभ पर लगा जख्म सबसे जल्दी ठीक हो जाता है और ज्ञान कहता हैं की जुबान से निकले शब्द की चोट कुछ भी कर लो ठीक नहि होती।”

“विज्ञान के चमत्कार कभी कभी ईश्वर के अस्तित्व को और भी पुख्ता करते है।”

“विज्ञान उन सिध्दांतों की ख़ोज पर है जो हमेशा से ही मौजूद है।”

“विज्ञान में ज्ञान का उदय होने के बाद विश्वास उत्पन्न होता है। अध्यात्म में विश्वास पहले उत्पन्न होता है और ज्ञान इसके बाद आता है।”

More Quotes Hindi

I hope these “Science quotes in Hindi” will like you. If you like these “Science quotes in Hindi” then please like our facebook page & share on whatsapp. and for latest update download : Gyani Pandit free android App.

Gyani Pandit

GyaniPandit.com Best Hindi Website For Motivational And Educational Article... Here You Can Find Hindi Quotes, Suvichar, Biography, History, Inspiring Entrepreneurs Stories, Hindi Speech, Personality Development Article And More Useful Content In Hindi.

0 comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *